Patron Saint of India’s Civil Servants Sardar Vallabh Bhai Patel

 

सरदार वल्ल‍भभाई पटेल
Sardar Vallabh Bhai Patel

MOBILE USER ROTATES SCREEN

          s7e58EmxcVdX9EDxIqHSg4YbmaPE9G5RHaRtm40R1QZtXoWUwWHWy

ZpbIt9Uj qTwrBgbBSqWJVxwBSAoVoMXLLzcq 0o936Bd56 RgAHVtkcI5hv Ex8MGm Ovz6EaV DsqUipb5NwE4cpU1MKKxhKJXhcV67avtbUYPlxnE3RXi iRENhLzw6Kv P5v

  • जन्म(जयंती) – 31 अक्तूबर, 1875 ,गुजरात ,नडियाद में

    • राष्ट्रीय एकता दिवस

  • मृत्यु (पुण्यतिथि)- 15 दिसंबर, 1950, (2021- 71वीं पुण्यतिथि)

  • उन्होंने लंदन जाकर कानून की शिक्षा प्राप्त की और वापस आकर भारत में वकालत करने लगे। 

  • वर्ष 1917 में वे महात्मा गांधी से मिले और गांधी से प्रेरित होकर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में शामिल हो गए। 

  • वर्ष 1920 में सरदार पटेल गुजरात प्रदेश काॅन्ग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बने और उन्होंने शराबबंदी, छुआछूत एवं जातिगत भेदभाव आदि के विरुद्ध दृढ़ता से कार्य किया। 

  • वल्लभ भाई पटेल ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान वर्ष 1928 में गुजरात में एक प्रमुख किसान आंदोलन का नेतृत्त्व किया, जिसकी सफलता के बाद उन्हें ‘सरदार’ की उपाधि प्रदान की गई थी जिसका अर्थ है ‘ प्रमुख या नेता’। 

  • स्वतंत्रता प्राप्ति के समय सरदार पटेल को तत्कालीन 562 रियासतों को स्वतंत्र भारत में शामिल करने का महत्त्वपूर्ण कार्य सौंपा गया था, जिसे उन्होंने बखूबी पूरा किया, जिसके कारण उन्हें ‘भारत का लौह पुरुष’ भी कहा जाता है। 

  • 15 दिसंबर, 1950 को बॉम्बे में उनका निधन हो गया। 

  • उन्हें वर्ष 1991 में मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित किया गया। 

  • सरदार पटेल को आधुनिक अखिल भारतीय सेवाओं की स्थापना करने हेतु ‘भारतीय  सिविल सेवकों के संरक्षक संत’ (Patron Saint of India’s Civil Servants) के रूप में भी जाना जाता है। 

  • सरदार वल्लभ भाई पटेल भारत के पहले गृह मंत्री और उप प्रधानमंत्री बने। 

  • वह भारतीय संविधान सभा की निम्नलिखित समितियों के प्रमुख रहे: 

    • मौलिक अधिकारों पर सलाहकार समिति।

    • अल्पसंख्यकों और जनजातीय तथा बहिष्कृत क्षेत्रों पर नियुक्त समिति।

    • प्रांतीय संविधान समिति।

  • राष्ट्रीय स्वतंत्रता आंदोलन में खेड़ा सत्याग्रह (1918) और बारदोली सत्याग्रह (1928) के मुद्दों पर किसानों को एकत्रित करना। 

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी(Statue of Unity)

  • सरदार वल्लभभाई पटेल के नाम से गुजरात में ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ स्मारक बनाया गया है।

  • गुजरात के नर्मदा ज़िले के केवडिया नामक स्थान  में स्थित है  

  • सरदार पटेल की 143वीं जयंती के अवसर पर 31 अक्तूबर, 2018 को इसका उद्घाटन किया गया

  • स्टैच्यू ऑफ यूनिटी विश्व की सबसे ऊंँची (182 मीटर।आधार से 240 मीटर ) मूर्ति है। यह चीन की स्प्रिंग टेम्पल बुद्ध प्रतिमा (Spring Temple Buddha statue) से 23 मीटर ऊंँची तथा अमेरिका में स्थित स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी(93 मीटर लंबा) की ऊंँचाई की लगभग दोगुनी है।

  • यह नर्मदा नदी के साधू बेट द्वीप (Sadhu Bet island) पर स्थित है। 

  • स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का डिज़ाइन पद्म भूषण पुरस्कार प्राप्तकर्त्तामूर्तिकार राम वी सुतार द्वारा तैयार किया गया था और इस प्रतिमा का जटिल कांस्य क्लैडिंग कार्य चीनी फाउंड्री, जियांग्शी टॉकाइन कंपनी (Jiangxi Toqine Company- JTQ) द्वारा किया गया।

बारडोली सत्याग्रह(Bardoli Satyagraha)

  • बारदोली सत्याग्रह जून 1928 में गुजरात में हुआ 

  • यह एक प्रमुख किसान आंदोलन था जिसका नेतृत्व वल्लभ भाई पटेल ने किया था। 

  • उस समय प्रांतीय सरकार ने किसानों के लगान में 22 प्रतिशत तक की वृद्धि कर दी थी। पटेल ने इस लगान वृद्धि का जमकर विरोध किया। सरकार ने इस सत्याग्रह आंदोलन को कुचलने के लिए कठोर कदम उठाए, पर अंतत: विवश होकर उसे किसानों की मांगों को मानना पड़ा। 

  • एक न्यायिक अधिकारी बूमफील्ड और एक राजस्व अधिकारी मैक्सवेल ने संपूर्ण मामलों की जांच कर 22 प्रतिशत लगान वृद्धि को गलत ठहराते हुए इसे घटाकर 6.03 प्रतिशत कर दिया।

भारतीय राष्ट्रीय कॉन्ग्रेस के महत्त्वपूर्ण वार्षिक  अधिवेशन

Important Annual Sessions of the Indian National Congress

वर्ष

स्थल 

अध्यक्ष

प्रमुख घटनाएँ

1931

कराची

वल्लभभाई पटेल

  • मूल अधिकार की प्रस्ताव 

  • गांधी-इरविन समझौते(दिल्ली समझौता) का अनुमोदन

  • राष्ट्रीय आर्थिक कार्यक्रम को स्वीकृति 

Leave a Reply