खोंड जनजाति झारखण्ड की जनजातियाँ JPSC/JSSC/JHARKHAND GK/JHARKHAND CURRENT AFFAIRS JHARKHAND LIBRARY

JPSC/JSSC/JHARKHAND GK/JHARKHAND CURRENT AFFAIRS JHARKHAND LIBRARY

झारखण्ड की जनजातियाँ।। खोंडजनजाति

खोंड जनजाति

  • खोंड झारखण्ड की एक अल्पसंख्यक जनजाति है।
  • इस जनजाति का संबंध द्रविड़ समूह से है।
  • यह झारखण्ड के संथाल परगना क्षेत्र में प्रमुखता से पाए जाते हैं। इसके अलावा उत्तरी व दक्षिणी छोटानागपुर, पलामू तथा कोल्हान प्रमण्डल में भी इनका निवास है।
  • इस जनजाति की भाषा कोंधी है।
  • इस जनजाति में वरमाला की प्रथा प्रचलित है।
  • इनके ग्राम संगठन का मुखिया गौटिया कहलाता है।
  • इनके प्रमुख पर्व-त्योहार सरहुल, सोहराई, करमा, दशहरा, दीपावली, रामनवमी, नबानंद आदि है। नबानंद त्योहर में नये चावल को पकाया जाता है।
  • इनका प्रमुख पेशा कृषि कार्य तथा मजदूरी करना है।
  • इस जनजाति में झूम खेती को पोड़चा कहा जाता है।
  • इनके प्रमुख देवता सूर्य हैं जिन्हें बेंलापून कहा जाता है।
  • इस जनजाति में नरबलि की प्रथा प्रचलित है, जिसे मरियाह के नाम से जाना जाता है।

JPSC/JSSC/JHARKHAND GK/JHARKHAND CURRENT AFFAIRS JHARKHAND LIBRARY