झारखण्ड में App (App in Jharkhand)

हमारा अपना बजट पोर्टल और मोबाईल ऐप 

  • 2 दिसंबर, 2021 को झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने हमारा अपना बजट पोर्टल और मोबाईल ऐप का शुभारंभ किया। 
  • हमारा अपना बजट पोर्टल और मोबाईल ऐप वित्त वितरण द्वारा तैयार किया
  • इस पोर्टल के माध्यम से राज्य की आम जनता 2022-23 के बजट के लिये अपने सुझाव साझा कर सकेंगे। 

 

स्पेक्ट्रल एन्हांसमेन्ट सॉफ्टवेयर

  • कोल इंडिया लि. द्वारा “स्पेक्ट्रल एन्हांसमेन्ट” नामक सॉफ्टवेयर लॉन्च किया है 
  • इसके द्वारा कोयला अन्वेषण प्रक्रिया के दौरान भूकंपीय सर्वेक्षण का उपयोग करके पृथ्वी की क्रस्ट के नीचे पतले कोयले की परतों की पहचान करने और कोयला संसाधनों के आकलन में सुधार करने में मदद करेगा। 

हेलो पुलिस ऐप

  • इस ऐप की शुरूआत हजारीबाग पुलिस द्वारा की गई ताकि पुलिस और पब्लिक के बीच बेहतर संबंध स्थापित किया जा सके। 

e-FIR पुलिस स्टेशन

  • राज्य मंत्रीमंडल ने रामगढ़ और खूटी जिलों को छोड़कर 22 जिलों में स्थापित करने की मंजूरी दी हैं। 

CM Support APP

  • झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरने ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना या झारखण्ड राज्य खाद्य सुरक्षा योजना के लाभुकों को उनके दो पहिया वाहन के लिए पेट्रोल सब्सिडी योजना के तहत सीएम रिपोर्ट एप लॉन्च किया। 
  • राशन कार्ड धारी अब इस एप में रजिस्ट्रेशन कर इस योजना का लाभ ले सकेंगे।
  •  26 जनवरी, 2022 से योजना के जरिये राशन कार्ड धारी लाभुकों को अपने दो पहिया वाहन के लिए हर महीने अधिकतम 10 लीटर ₹25 की सब्सिडी यानी ₹ 250 प्रति माह उनके बैंक खाते में सब्सिडी के माध्यम से ट्रांसफर किया जाएगा। 

 

AVIG रोबोट

  • झारखण्ड के धनबाद जिले के निवासी सॉफ्टवेयर इंजीनियर सस्वयम पी रंजन ने दो साल की मेहनत के बाद एक AVIG नामक रोबोट तैयार किया है। 
  • यह रोबोट उस जगह पर मौजूद हानिकारक वायरस बैक्टीरिया को निष्क्रिय कर देगा। 

ई-संजीवनी ऐप

  • कोरोना से संबंधित विभिन्न तरह की जानकारियों के लिए स्वास्थ्य विभाग ने संजीवनी ऐप जारी किया है। इस ऐप के जरिये घर बैठे कोरोना जाँच के लिए लोग पंजीकरण कर सकेंगे। इसी के जरिये जाँच के परिणाम भी बताएँ जाएंगे। 

सुरक्षा कोविड-19 ऐप

  • झारखण्ड राज्य के जमशेदपुर में स्थित आर.आई.टी. द्वारा सुरक्षा कोविड-19 ऐप विकसित किया गया है। 
  • इस ऐप का उपयोग होम क्वारंटीन में रह रहे लोगों की देखरेख एवं नजर रखने के लिये किया जा रहा है। 

लर्नेटिक्स ऐप

  • डिजीटल कंटेंट उपलब्ध कराने के उद्देश्य से झारखण्ड स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा लॉन्च किया गया है।

आरोग्य झारखण्ड ऐप 

  • झारखण्ड सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा आरोग्य झारखण्ड ऐप तैयार की गई।  

किसान मेल ऐप

  • चतरा के मयूरखंड निवासी युवक ने किसान के लिए एक अनोखा ऐप तैयार किया है 
  • इसे दो लोगों ने तैयार किया है 
  • किसान मेल ऐप को सिलीकॉन इंडिया संस्थान के 10 बेस्ट ऐग्रीटच ऐप स्टार्ट अप 2020 में 3) शामिल किया गया है। 
  • किसान मेल ऐप से घरं बैठे समस्याओं का समाधान होगा। 
  • इस ऐप से फल, फूल, सब्जी, किराना, मेडिकल, आदि दुकानों को भी घर बैठकर आसानी से देख सकते हैं। 

 

डिक्शनरी ऐप

  • केन्द्रीय विश्वविद्यालय झारखण्ड ने तीन भाषाओं की डिक्शनरी ऐप लॉन्च किया है, इस ऐप में असुर, बिराजिया और बिरहोर तीन भाषा शामिल हैं। 

शक्ति ऐप

  • शक्ति ऐप महिलाओं की सुरक्षा व बचाव के लिए झारखण्ड पुलिस की एक पहल है। 

पोस्ट इन्फो

  • इसे डाक विभाग ने लॉन्च किया है है। 
  • व्यक्ति इस ऐप के जरिये ही अपने घर बैठे-बैठे इस ऐप मे जाकर अपने स्थिति जान सकते है।

आदिवा

  • 2 नवंबर, 2021 को झारखण्ड स्टेट लाइवलीहुड प्रोमोशन सोसाईटी लिमिटेड ने स्थानीय कारीगरों को बढ़ावा देने तथा रोजगार प्रदान करने के लिए पारंपरिक आभूषणों का एक ब्रांड “आदिवा” को लॉन्च किया है। 

प्रोजेक्ट कवच

  • झारखण्ड में बोकारो स्टील प्लांट ने “प्रोजेक्ट कवच” लॉन्च किया है।

कोविड मित्र

  • पश्चिमी सिंहभूम में Covid-19 वैक्सीन से संबंधित मिथकों को दूर करने हेतु जागरूता फैलाने के लिये किया गया है।

जोहार पाठशाला

  •  कोरोना संक्रमण काल में ऑनलाइन पढ़ाई के लिए झारखंड में एनसीइआरटी के अन्तर्गत 9 वीं से 12 वीं तक के विद्यार्थियों के लिए जोहार पाठशाला प्लेटफार्म की शुरूआत की गई है। 
  • इस प्लेटफार्म का कार्य कोल्हान आयुक्त के निर्देश पर चल रहा है। 
  • ये विडियो कोल्हान प्रमंडल के तीनों जिले (जमशेदपुर, चाईबासा व सरायकेला खरसावां) के शिक्षकों के सहयोग से तैयार किया गया है। 

 

बिरसा वेदर फोरकास्ट एप

  • राज्य (झारखंड) के करीब 4400 पंचायतों तक मौसम की जानकारी पहुँचाने के उद्देश्य से “बिरसा वेदर फोरकास्ट एप’ विकसित किया गया है। 
  • इसे बिरसा कृषि विश्वविद्यालय ने मौसम विभाग के साथ मिलकर तैयार किया गया है।

खैरियत पोर्टल

  • दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों के आंकड़े इकट्ठा करने के उद्देश्य से गढ़वा जिला प्रशासन ने खैरियत पोर्टल की शुरूआत की। 

सक्षम एप

  • झारखंड के प्रवासी मजदूरों का डाटा तैयार करने के लिए ग्रामीण विकास विभाग के तहत सक्षम एप की शुरुआत की गई। 

झारखंड बाजार मोबाईल एप

  • झारखंड बाजार मोबाइल एप हेमंत सोरेन द्वारा 21 अप्रैल, 2020 को लॉन्च किया गया है। 
  • कोरोना के समय में, किसान फसल/उपज को बाजार में नहीं ला पा रहे हैं। इस समस्या को हल करने के लिए झारखंड के मुख्यमंत्री ने खरीदारों और व्यापारियों को जोड़ने के उद्देश्य से झारखंड बाजार एप लॉन्च किया है। 

झारखंड कोरोना सहायता मोबाइल एप

  • श्री हेमंत सोरेन ने राज्य के प्रवासी मजदूरों को सहायता प्रदान करने के लिए झारखंड मुख्यमंत्री विशेष वित्तीय सहायता मोबाइल एप का शुभारंभ किया। 
  • इसके जरिए हर श्रमिक को भरण पोषण के लिए 2000 रुपये दिये जाएंगे। 

क्रिकेटोर एप

  • क्रिकेट कोचिंग के लिए महेन्द्र सिंह धोनी और मिहिर दिवाकर ने क्रिकेटोर एप की शुरुआत की। 

द टीचर एप

  • लॉकडाउन के कारण झारखंड के सरकारी स्कूल के शिक्षक को द टीचर एप के माध्यम से पाठ्यक्रम विषय पर ट्रेन किया जाएगा। 

प्रज्ञाम एप

  • 30 मार्च, 2020 को झारखंड सरकार द्वारा लॉकडाउन के दौरान E-PASS के लिए प्रज्ञाम एप लाया गया । 

विद्यायतन एप

  • सेंट जेवियर्स कॉलेज के द्वारा विद्यायतन एप विकसित किया गया है। 

समाधान पोर्टल 

  • अक्टूबर 2019 में झारखंड पुलिस द्वारा समाधान पोर्टल की शुरूआत की गई। 
  • इस पोर्टल को शुरू करने का उद्देश्य आम जनता को बिना थाना गए विभिन्न सुविधा प्रदान करना था। 

शक्ति एप 

  • झारखंड की महिलाओं की सुरक्षा के लिए झारखड पुलिस ने शक्ति एप लॉन्च किया। 

एग्रीकैप्सूल एग्री नोट्स एप 

Leave a Reply