उपसर्ग प्रत्यय उपसर्ग प्रत्यय खोरठा व्याकरण OOPSARG PRATYAY KHORTHA VYAKARAN FOR JSSC

  • Post author:
  • Post category:Blog
  • Reading time:46 mins read

 

उपसर्ग प्रत्यय खोरठा व्याकरण 

UPSARG PRATYAY KHORTHA VYAKARAN FOR JSSC 

खोरठा भाषा एवं साहित्य

SARKARI LIBRARY

let’s Progress  Your Career with Us

MANANJAY MAHATO

SPECIAL FOR JSSC 

JSSC CGL/JTET/JPSC/JHARKHAND POLICE/ JHARKHAND SACHIVALYA/

 JHARKHAND DAROGA /JHARKHAND CONSTABLE

उपसर्ग प्रत्यय खोरठा व्याकरण

आगाइड़ (उपसर्ग)

  • जो शब्दों से पहले लगकर उनके अर्थ में विशेषता या परिवर्तन ला देते हैं या उसके अर्थ को बदल देते हैं, उपसर्ग कहलाते हैं।

खोरठा भाषा में उपसर्गों से बने शब्द:

आगाइड़ 

(उपसर्ग)

सबद (शब्द)

1. अ

  • अजगुत (आराम से) 

  • अकारथ (बेकार) 

  • अजगइबी (अचानक) 

  • अगरा (आगे वाला)

  • अकरखइन (खूद-बूँद के कीचड़ बना देना) 

  • असगरे (अकेले)

  • अखन (अभी)

2. अड़

  • अड़गाही (आगे की ओर से उठाना) 

  • अड़गड़ी (आगे की ओर उठ जाना)

  • अड़ल (इँटे रहना)

  • अड़बेरिया (शाम और दोपहर के बीच का समय)

3. अध

  • अधखेंचरा (अधुरा)

  • अधकचरा (आधा-अधूरा)

  • अधमोरवा (आधा मरा हुआ)

  • अधपुरवा (आधा कार्य) 

4. अधि

  • अधिअउरी (आधा हिस्सा) 

  • अधिया (आधा भाग)

  • अधियाइल (उबलनांक बिन्दु) 

5. अन

  • अनगुत (अधिक सुबह) 

  • अनठेहरी (अन्दाजी)

  • अनका (दूसरे का) 

6. अर

  • अरवा (बिना उबाला धान से बना चावल)

  • अरखन (मूंसा) 

  • अझुराइल (ओझराया हुआ) 

7 . कठ

  • कठाही (एक काठ या चालीस सेर वाला)

  • कठचिरवा (लकड़ी चिरने वाला)

  • कठखोंटकी (लकड़ी को नोचने वाला)

8. कु 

  • कुरचा (झगड़ालू) 

  • कुधा (ढेर) 

  • कुचराहा (ईर्ष्याल) 

  • कुसटाहा (बदमाश)

9. गड़

  • गड़पतरा (बिना नाप-तौल के) 

  • गड़गड़िया (गोल आकार का लोहे का रिंग खिलौना)

  • गड़धक्का (जोर से धक्का देना)।

10. गर

  • गरजुइत (ठीक ढंग से नहीं) 

  • गरगत (दुर्भाग्य) 

  • गर-गर (उबलने की आवाज) 

  • गरसड़ (मोटा-मोटी)

11. गोड़

  • गोड़धरवा (पैर पकड़ने वाला) 

  • गोड़ लंघा (पैर से लाँघना) 

12. घर

  • घरघुसरी (घर के भीतर रहने वाला)

  • घरमोहड़ी (घर का अग्र भाग) 

  • घरजमायं (पत्नी के घर बसने वाला पति) 

  • घरकरना (घरेलू सामान)

13. नि

  • निखउतिया (कम खाने वाला)

  • निगोडि (कुलक्षण वाली)

  • निमुहियां (कम बोलने वाली)

14.बि

  • बिसराइन (माँस-गंध युक्त)

  • बिसराहा (भूलने वाला) 

  • बिसाइन (जहरीला)

15.बे

  • बेजुइत (बिना सहुलियत का)

  • बेलुइर (काम करने का ज्ञान का अभाव)

  • बेगइत (आदमी), बेस (अच्छा )

16. मुड़

  • मुड़रा (सिर का बाल मुड़वाने वाला) 

  • मुड़मरवा (जान से मरवाने वाला) 

  • मुड़गड़ी (शव दफनाने का स्थान)

17. हर

  • हरगढी (गीला मिट्टी वाला खेत)

  • हरनठ (मजबुत)

पेछाइड़ (प्रत्यय)

  • जो शब्दों के बाद या अंत में  लगकर उनके अर्थ में विशेषता या परिवर्तन ला देते हैं या उसके अर्थ को बदल देते हैं, प्रत्यय कहलाते हैं।

(खोरठा भाषा में प्रत्यय से बने शब्द ):

पेछाइड (प्रत्यय)

सबद (शब्द) 

1. अइल 

  • बजकइल (कहा) 

  • गुडरइल (गुस्सा कर देखना)

  • बिगडइल (बदमाश)

2. अइन

  • बछवइन (बछड़ा सब) 

  • गीदरअइन (बच्चा सब)

3. आहिक

  • गेलाहिक (गये हैं) 

  • सुतलाहिक (सोये हैं)

  • भैसाहिक (मुँह बनाने वाली) 

4. आड़ी

  • अगुआड़ी (आगे वाला) 

  • पछुआड़ी (पीछे वाला)

  • अनाडी (अन्जान) 

5. इअइ

  • गछलीअइ (वादा किये)

  • गेलीअइ (गये)

  • सुतलीअइ (सोये) 

  • खइलीअइ (खाये) 

  • कांदलीअइ (रोये) 

6. इयो

  • दूइयो (दोनो)

  • जनीयों (औरत भी) 

7. इ

  • डिहराइ (रास्ता पर चला देना) 

  • बड़ाइ (प्रशंसा)

8. उका

  • भतखउका (भात खाने वाला) 

  • माइरखउका (मार से ही बात सुनने वाला) 

9. कुन

  • तनोकुन (थोड़ा सा)

  • जरोकुन (थोड़ा सा)

  • कुन-कुन (बड़बड़ाना) 

  • बेसकुन (अच्छा से)

10. खठ

  • नखउ (नहीं है)

11. थि

  • नखथि (नहीं हैं)

  • गइलथि (गये हैं) 

  • सुतथि (सोयेंगे) 

12. गुलअइन

  • गीदरगुलअइन (बच्चे सब)

  • ऊगुलइन (वह सब)

  • छोड़ी गुलअइन (बच्चियाँ सब) 

  • पठरूगुलअइन (बकरियाँ सब)

13. गर

  • लुइरगर (काम जानने वाला)

  • बेसगर (अच्छा), एसगर (अकेले) 

  • जोरगर (ताकत वाला)

  • खादगर (उपजाऊ)

14. छा

  • मइलछा (गंदा) 

  • गमछा (तौलिया) 

  • निंगछा (डर भंगाना)

15. टा 

  • ऊटा (वह वाला)

  • रेंगटा (गन्दा शरीर) 

  • सौंटा(छड़ी) 

16. टी

  • नकटी (कटा नाक वाली) 

  • चेपटी (गाल धंसा| हुआ , दुबला-पतला)

17. तलइ

  • करतलइ (करते) 

  • बोलतलइ (बोलते) 

  • मारतलइ (मारते) 

  • देतलइ (देते)

18. मुटुक

  • तनिमुटुक (छोटा-सा) 

  • गोल मुटुक (गोल सा)

19.लक

  • छांटलक (चुनना)

  • गेलक (गया)

  • सुतलक (सोया) 

  • पिटलक (पीटा) 

  • कांदलक (रोया)

  • बुझलक (समझा)

21. वइया

  • गंवइया (गाँव का आदमी)

  • गवइया (गाने वाला)