बैगा जनजाति झारखण्ड की जनजातियाँ JPSC/JSSC/JHARKHAND GK/JHARKHAND CURRENT AFFAIRS JHARKHAND LIBRARY

JPSC/JSSC/JHARKHAND GK/JHARKHAND CURRENT AFFAIRS JHARKHAND LIBRARY

झारखण्ड की जनजातियाँ।। बैगाजनजाति

बैगा जनजाति

  • बैगा झारखण्ड की एक उपेक्षित जनजाति है।
  • इस जनजाति का संबंध द्रविड़ परिवार से है।
  • इनका संकेन्द्रण मुख्यतः पलामू प्रमण्डल, राँची, हजारीबाग व सिंहभूम क्षेत्र में है।
  • इस जनजाति के रीति-रिवाज खरवार जनजाति के समान हैं।
  • इनमें संयुक्त परिवार की व्यवस्था पायी जाती है।
  • बैगा की सामुदायिक पंचायत का मुखिया मुकद्दम कहलाता है।
  • करमा नृत्य इस जनजाति का प्रमुख नृत्य है। झरपुट, विमला आदि अन्य नृत्य हैं। इस जनजाति में पुरूषों द्वारा ‘दशन’ या ‘सैला’ नृत्य तथा स्त्रियों द्वारा ‘रीना’ नृत्य भी किया जाता है।
  • इनके वर्ष का प्रथम पर्व ‘चरेता‘ है, जो बच्चों को बाल भोज देकर मनाया जाता है।
  • इस जनजाति में 9 वर्षों पर ‘रसनावा’  पर्व का आयोजन किया जाता है। इसके अतिरिक्त सरहुल, दशहरा, दीवाली, होली आदि पर्व भी प्रचलित है।
  • इनका प्रमुख पेशा वैद्य कार्य तथा तंत्र-मंत्र है। इसके अतिरिक्त ये खाद्य संग्रह व मजदूरी का कार्य भी करते हैं।
  • ये पेड़-पौधों के अच्छे जानकार होते हैं।
  • इस जनजाति का प्रधान देवता बड़ा देव है जिसका निवास साल वृक्ष में माना जाता है।
  • यह जनजाति बाघ को पवित्र पशु मानती है।

JPSC/JSSC/JHARKHAND GK/JHARKHAND CURRENT AFFAIRS JHARKHAND LIBRARY