पक्ष , पक्ष की परिभाषा , पक्ष के प्रकार/ भेद

  • Post author:
  • Post category:Blog
  • Reading time:4 mins read

पक्ष 

पक्ष की परिभाषा 

  • प्रत्येक कार्य व्यापार के प्रांरभ से अंत तक की काल अवधि में कार्य व्यापार को देखना पक्ष कहलाता है। 

  • जैसे- वर्षा होने वाली है या हो रही है या होने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।

पक्ष के प्रकार/ भेद 

  • हिन्दी में पक्ष चार प्रकार के होते हैं

(1) नित्यता बोधक अपूर्ण पक्ष 

(2) आवृत्ति मूलक पक्ष 

(3) सातत्य बोधक पक्ष 

(4) पूर्णकालिक पक्ष

1. नित्यता बोधक अपूर्ण पक्ष 

  • जहाँ क्रिया सामान्य रूप से चल रही हो परन्तु पूरी नहीं हुई हो।

  • जैसे आराध्या डॉक्टर है। सुरेश अध्यापक था। 

2. आवृत्ति मूलक पक्ष

  • जहाँ क्रिया सदैव बनी रहती है।

  • जैसेते जस्विनी स्कूल जाती है। दिव्यता पढ़ती है। 

3.सातत्य बोधक पक्ष

  • जहाँ क्रिया लगातार चल रही हो।

  • जैसे- राम पढ़ रहा है। रीता गा रही है। 

4. पूर्णकालिक पक्ष

  • जहाँ क्रिया पूरा या समाप्त हो गई हो।

  • जैसे- रमेश दौड़ चुका है। सीता ने यह पुस्तक पढ़ी है।