NAWA CHOT JIMIDAR khortha kahani नावा छोट जिमिदार कहानी छॉइहर

  • Post author:
  • Post category:Blog
  • Reading time:8 mins read

 9.नावा छोट जिमिदार 

  • इस कहानी में दो पात्र हैं – जगरनाथ चौधरी  और दूसरा बलराम सिंह
  • एक जगरनाथ चौधरी (80 वर्षे ज्यादा आयु का सम्मानित व्यक्ति)
    • कहानी सुनाता है अखड़ा में
    • राजतंत्र की तुलना प्रजातंत्र से करता है
    • आज का मंत्री पहले के राजा के समान है
    • आज के DC ,कलेक्टर, एसडीओ, सीओ, कर्मचारी,दरोगा पुलिस सिपाही  पहले के जमींदार के समान है
    • पहले का शोषण को जुल्म कहा जाता  था आज का शोषण जुर्माना (दंड बिना दोष  का)
    • टैक्स का मतलब बिना फ़ीस  चुकाए बिना, आपका काम कितना भी जरूरी हो नहीं होगा
  • कहानी में मुख्य पात्र हैं – बलराम सिंह(थाना का भ्रस्ट दरोगा) 
    • इसे लेखक के द्वारा नावा छोट जमींदार कहा गया है 
    • यह लोगों का शोषण करता है
    • इसके बुरे कर्मों के कारण जीवन के अंतिम समय में इसका बहुत बुरा हाल हो जाता है
    • उसके सारे बच्चे मर गए हैं
    • हाथ पैरों में घाव  फोड़ा फुंसी हो गया
    • उसका बेटा और बेटे की पत्नी कार एक्सीडेंट में मारे गए हैं
    • और उसकी पत्नी अपने बीते हुए समय को याद करके रोती रहती है

 

नावाँ छोट जिमीदार

 

1Q. ‘नावाँ छोट जिमीदार’ कहनी के कर लिखल लागे? – चितरंजन महतो ‘चित्रा’

2Q. “नावाँ छोट जिमीदार कहनी कोन किताब से लेल गेल हे?  – छाँहइर

3Q. ‘आखरा केकरा कहल जा हे? – चउक जगह जंहा सांइझ-बिहान जहाँ लोक बइठो हथ परब -तेवहार पर कार्य ,पर-पंचइती हेवेक

4Q. ‘नावाँ छोट जिमीदार’ कहनी कोने सुनाव हे?  जगरनाथ चौधरी

5Q. ‘नावाँ छोट जिमीदार’ कहनी कहाँ सुनावल गेल रहे?  अखराञ

6Q. ‘नावाँ छोट जिमीदार कर कहनीक’ सुरू हेल एक दिन साइझ पहरे कोन बिसय पर चरचा सुरू हेल? राजतंत्र आर प्रजातंत्र कर शासन बेवस्थाक तलना

7Q.जगरनाथ चौधरी उमइर कतनाक लगभग हे?  सत्तर -अस्सी बछर  से उपर

8Q. अंगरेज जमानाक राजाक तुलना कहनी में केकर से करल गेल हे?  मंतरी से

9Q.’नावाँ छोट जिमीदार’ कहनी में बोड़ जिमीदार केकरा कहल गेल हे? DC

10Q. ‘नावाँ छोट जिमीदार’ कहनी में नावाँ छोट जिमीदार केकरा कहल गेल हे?  बलराम सिंह

11Q. बलराम सिंह कोन रहे? थानाक  भ्रस्ट दारोगा