Marang Gomke Jaipal Singh Munda Overseas Scholarship Scheme (मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृति योजना)

  • Post author:
  • Post category:Blog
  • Reading time:1 mins read

मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृति योजना

  • योजना की शुरुआत – 4 January 2021 
    • संसोधन – 2022 में 
  • झारखण्ड सरकार ने राज्य के आदिवासी विद्यार्थियों के लिए नए साल पर मरांग गोमके जयपाल सिंह छात्रवृति योजना की शुभारंभ की। 
  • इस योजना के तहत राज्य के अनुसूचित जाति के प्रतिभावन छात्र छात्राओं को ऑक्सफोर्ड और कैंब्रिज जैसे प्रतिष्ठित विदेशी यूनिवर्सिटी में उच्च शिक्षा प्राप्त करने का मौका प्रदान कर रही है। 
  • झारखण्ड भारत का पहला ऐसा राज्य है जो अपने राज्य के नागरिकों के लिए ऐसी नई योजना शुरू करने जा रही है।
  • इस योजना के तहत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अल्पसंख्यक एवं अन्य पिछडे वर्ग कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जाति के 10 विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा।
    • 2022 में संसोधन के बाद 25 विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा।
      • SC विद्यार्थियों का संख्या  – 5 
      • ST विद्यार्थियों का संख्या  – 10 
      • OBC विद्यार्थियों का संख्या  – 7 
      • अल्पसंख्यक विद्यार्थियों का संख्या  – 3 
  • इस योजना के तहत अपनी उच्च शिक्षा मास्टर डिग्री, एम.फिल हेतु विदेशों में शिक्षा प्राप्त करने के लिए छात्रवृत्ति प्राप्त होगी। 
  • सरकार द्वारा हर वर्ष ऐसे 10 प्रतिभावान विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा एवं उन्हें छात्रवृति की सुविधा दी जाएगी। 
  • इस योजना के तहत विद्यार्थियों को यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड, कैंब्रिज जैसे बड़े विदेशी शैक्षणिक संस्थानों में 22 विषयों में (31 विषयों में ,2022 में संसोधन के बाद ) स्नातकोत्तर की डिग्री प्राप्त करने का मौका मिलेगा।
  • मास्टर डिग्री, एम.फिल डिग्री के लिए अभ्यार्थियों के स्नातक की डिग्रीयों में 55% या इससे अधिक अंक होने चाहिए एवं संबंधित विषय में 2 वर्ष का शिक्षण कार्य वांछनीय होगा। 
  • किसी भी आवेदक की आयु 40 वर्ष (35  वर्ष – 2022 में संसोधन के बाद )से अधिक नही होनी चाहिए।