बोनेक लोर छॉइहर(कहानी संग्रह/गोछ ) bonek lor chaihar

 छॉइहर(कहानी संग्रह/गोछ )

लेखक – चितरंजन महतो चित्रा

कहानी संग्रह – 10

कहानी 2 – बोनेक लोर(वन के आंसू )

bonek lor chaihar

  • इस कहानी में वन के दुख के बारे में बताया गया है कि किस तरह व्यक्ति अपने स्वार्थ के लिए वनों को नष्ट कर रहा है जिस कारण से वन को रोना पड़ रहा है

  • किस तरह से सरकारी तंत्र वनों के रक्षा के नाम पर वन अधिकारियों की नियुक्ति करता है और उन्हीं अधिकारियों के द्वारा जंगल काटने की योजना बनाया जाता है और जंगल को काटा जाता है

  • इस तरह से इस कहानी का निष्कर्ष पर्यावरण सुरक्षा है

  • खोरठा Theory + विगत वर्षो के खोरठा भाषा के  प्रश्न + Mock Test 

  • 0nQXFeVCHCjPekVBkSfCYzgd q 9 I10FhVAiNLRMPP3Quh EGCL9Z5AHhlKuX9vnkDjkuoldUDs0cpxXN PhuthlM2ND5X37Eg3b jNTleV5yKg1661tHaLgAlJl7szX2HfmeiU=s1600

     BUY PRICE – 99 Rs

        Whatsapp no

    7903707538

Leave a Reply