संवेग संरक्षण
« Back to Glossary Index

संवेग संरक्षण के नियम के उदाहरण 

  • रॉकेट प्रणोदन (rocket propulsion)– रॉकेट का उड़ना क्रिया-प्रतिक्रिया एवं संवेग सरंक्षण के सिद्धांतों पर आधारित है। रॉकेट का ईंधन जब जलता है तो तीव्र गति से गैसीय निकास होता है, जो प्रतिक्रिया स्वरूप रॉकेट को ऊपर धकेलता है। 
  • रॉकेट ईंधन का नियत वेग से दहन होने पर संवेग परिवर्तन की दर भी नियत रहती है, पर जैसे-जैसे रॉकेट उड़ता है उसमें ईंधन का दहन होने से रॉकेट का द्रव्यमान कम हो जाता है, जिसके कारण संवेग संरक्षण के नियमानुसार रॉकेट के वेगत्वरण में वृद्धि होती है। 
  •  संवेग संरक्षण के कारण ही जब कोई व्यक्ति नाव से कूदता है तो नाव पीछे खिसकती है।