माधव नारायण राव
« Back to Glossary Index

माधव नारायण राव(1774-96)

  • माधव नारायण राव को ‘बारा भाई परिषद्’ ने संरक्षण प्रदान किया। इस परिषद् में नाना फड़नवीस प्रमुख थे। 
  • इसी के कालं में प्रथम आंग्ल-मराठा युद्ध (1775-1782) हुआ। 
  • इस समय उत्तर के मराठा शासकों में सर्वाधिक शक्तिशाली महादजी सिंधिया थे। उसने आगरा के पास शस्त्र निर्माण के कारखाने स्थापित किये। 
  • महादजी की सलाह पर ही मुगल सम्राट शाहआलम द्वितीय ने पेशवा को ‘नायब-ए-गुनायब’ बनाया। 
  • माधव नारायण राव ने 1796 में  आत्महत्या कर ली। 
  • इसी बीच अनेक मराठा सरदारों ने अर्द्ध-स्वतंत्र राज्य बना लिये, जिसमें प्रमुख थे- 
    • बड़ौदा के गायकवाड़ 
    • इंदौर के होल्कर 
    • नागपुर के भोंसले 
    • ग्वालियर के सिंधिया