जॉन होप्स
« Back to Glossary Index
  • पेसमेकर (Pacemaker), कार्डियक पेसिंग डिवाइस के नाम से भी जाना जाता है.
  • यह एक छोटा सा चिकित्सा उपकरण होता है, जिसे ऑपरेशन के ज़रिए दिल के साथ लगाया जाता है. इसका मकसद दिल की धड़कन को नियंत्रित करना होता है. पेसमेकर, दिल की धड़कन को धीमा होने पर बढ़ाता है.
  • पेसमेकर का इस्तेमाल मुख्य तौर पर एरिथमिया का इलाज करने के लिए किया जाता है. एरिथमिया तब होता है, जब दिल की धड़कन की दर या ताल में कोई समस्या होती है.
  • जॉन होप्स ने सर्वप्रथम पेसमेकर का आविष्कार किया था जॉन अलेक्जेंडर होप्स (21 मई, 1919 – 24 नवंबर, 1998) पहले कृत्रिम पेसमेकर और पहले संयुक्त पेसमेकर-डिफ़ाइब्रिलेटर के सह-विकासकर्ता थे. वह कनाडा के इलेक्ट्रिकल इंजीनियर थे